माफ कर दीजिए, बहुत बड़ी भूल हो गई; बैकफुट पर आए पंडित प्रदीप मिश्रा, पैरों में गिर मांगी माफी

माफ कर दीजिए, बहुत बड़ी भूल हो गई; बैकफुट पर आए पंडित प्रदीप मिश्रा, पैरों में गिर मांगी माफी

Jun 30, 2024 - 06:57
 0  320
माफ कर दीजिए, बहुत बड़ी भूल हो गई; बैकफुट पर आए पंडित प्रदीप मिश्रा, पैरों में गिर मांगी माफी
Follow:

प्रसिद्ध कथा वाचक प्रदीप मिश्रा ने आज राधा रानी के दरबार में पहुंचकर क्षमा मांगी। इससे पहले उनके द्वारा की गई टिप्पणी पर विवाद बढ़ने का मामला तूल पकड़ने लगा था। लेकिन प्रदीप मिश्रा ने अपनी गलती स्वीकार करते हुए माफी मांगी और राधा रानी से क्षमा याचना की।

बृज के साधु संतों और बृजवासियों ने प्रदीप मिश्रा के बयान पर कड़ी प्रतिक्रिया व्यक्त की थी। लेकिन प्रदीप मिश्रा ने अपनी गलती स्वीकार करते हुए माफी मांगी और राधा रानी के दर्शन किए। उन्होंने कहा कि राधा रानी उन्हें माफ करें, उनसे बहुत बड़ी और भारी भूल हो गई। आगे से वह इस तरह की टिप्पणी नहीं करेंगे। 

इस घटना से विवाद के पटाक्षेप हो गया और सभी ने प्रदीप मिश्रा के इस कदम की सराहना की।राधा रानी ने भी प्रदीप मिश्रा को माफ की और विवाद के बाद सभी को शांति मिली।

राधा रानी के सामने पंडित मिश्रा का बड़ा वादा

 सूत्रों के मुताबिक, पंडित प्रदीप मिश्रा ने आज बरसाना में राधा रानी के मंदिर में जाकर उनके दर्शन किए और माफी मांगी। उन्होंने राधा रानी के पैरों में गिरकर माफी मांगते हुए कहा कि उन्हें शब्दों की मर्यादा का ध्यान रखना चाहिए। वह अब अपनी हर कथा में एक बयान देंगे कि उन्होंने राधा रानी के बारे में जो कुछ भी कहा, वह गलत कहा। इसके लिए राधा रानी उन्हें माफ करें। भक्त माफ करें।

बता दें कि पंडित प्रदीप मिश्रा ने पिछले दिनों राधा रानी पर विवादित बयान दिया था। उनका बयान सुनकर श्रद्धालु भड़क गए थे। बीते दिनों ब्रज तीर्थ देवालय न्यास ने महापंचायत करके फैसला लिया था कि अगर पंडित मिश्रा ने माफी नहीं मांगी तो उन्हें ब्रज में, बरसाना में, राधा रानी के मंदिर में घुसने नहीं दिया जाएगा। साथ ही पंडित मिश्रा के खिलाफ आंदोलन करने का ऐलान भी किया और बॉयकॉट करने की मांग की।

पंडित प्रदीप मिश्रा ने क्या दिया था बयान?

पंडित प्रदीप मिश्रा ने राधा रानी के कथावाचन के दौरान उनके पति, ससुराल को लेकर बयान दिया था। उन्होंने कहा था कि राधा रानी बरसाना की रहने वाली नहीं थी। वे तो गांव रावल की निवासी थी। वे श्रीकृष्ण की रानी भी नहीं थी, क्योंकि कभी भी राधा रानी के पति के रूप में श्रीकृष्ण को नहीं गिना जाता। पंडित मिश्रा ने राधा रानी के ससुराली गांव, पति, सास और ननद का नाम भी बताया था।

What's Your Reaction?

like

dislike

love

funny

angry

sad

wow