बारिश का कहर: 19 लोगों की जान गई, 10,000 से अधिक लोग विस्थापित हुए

केरल में बारिश

Jul 9, 2023 - 07:49
Jul 9, 2023 - 08:25
 0  15
बारिश का कहर: 19 लोगों की जान गई, 10,000 से अधिक लोग विस्थापित हुए
Follow:

तिरुवनंतपुरम: केरल में भारी मानसूनी बारिश के कारण कम से कम 19 लोगों की जान चली गई है और 10,000 से अधिक लोगों को राहत शिविरों में स्थानांतरित किया गया है, जो एक सप्ताह से अधिक समय से दक्षिणी राज्य में कहर बरपा रही है।
हालांकि बारिश की तीव्रता में कमी आती दिख रही है, लेकिन राज्य के कुछ हिस्सों में शनिवार सुबह भी लगातार बारिश होती रही, जिससे ट्रैफिक जाम हो गया और निचले इलाकों में जलभराव हो गया।
राज्य आपदा प्रबंधन प्राधिकरण (एसडीएमए) के अनुसार, शनिवार शाम तक दक्षिणी राज्य में बारिश से संबंधित घटनाओं में कुल 19 लोगों की जान चली गई है।
एसडीएमए के एक अधिकारी ने पीटीआई-भाषा को बताया, ''भारी बारिश के बाद राज्य भर में खोले गए 227 राहत शिविरों में 10,399 लोग हैं।''
अधिकारी ने बताया कि आंकड़ों के अनुसार, अब तक 1,100 घर आंशिक रूप से क्षतिग्रस्त हो गए हैं और क्षति का अन्य विवरण अभी तक उपलब्ध नहीं है।
जैसे ही पिछले कुछ दिनों से राज्य में हो रही बारिश की तीव्रता कम हुई, भारत मौसम विज्ञान विभाग (आईएमडी) ने सात जिलों-अलाप्पुझा, एर्नाकुलम, मलप्पुरम, कोझिकोड, वायनाड, कन्नूर और कासरगोड में दिन के लिए पीला अलर्ट जारी किया।
इस बीच, सुबह-सुबह कोच्चि, कोझिकोड और ऊंचाई वाले इडुक्की के कई इलाकों में भारी बारिश हुई।
आज सुबह कोझिकोड और कन्नूर-थलास्सेरी मार्ग पर राष्ट्रीय राजमार्गों पर पेड़ उखड़ गए जिससे यातायात अवरुद्ध हो गया।
अग्निशमन सेवा कर्मियों द्वारा रास्ता साफ करने के बाद दोनों स्थानों पर यातायात फिर से शुरू हो गया।
पथानामथिट्टा और तिरुवल्ला क्षेत्रों में सड़कों पर जलभराव से सामान्य जनजीवन प्रभावित हुआ।
रेड अलर्ट 24 घंटों में 20 सेमी से अधिक की भारी से अत्यधिक भारी बारिश का संकेत देता है, जबकि ऑरेंज अलर्ट का मतलब 6 सेमी से 20 सेमी तक की बहुत भारी बारिश है। येलो अलर्ट का मतलब है 6 से 11 सेमी के बीच भारी बारिश।
पीटीआई

What's Your Reaction?

like

dislike

love

funny

angry

sad

wow