टमाटर अब मिठाई दुकान के शोरूम में आने लगे नज़र, कैसे रसगुल्ले और लड्डू को टमाटर ने किया फेल ?

Effect Of Tomato Price Hike: अब मिठाई दुकान में भी टमाटर की बिक्री होने लगी है. मिठाई दुकानदार ने टमाटर को मिठाइयों के साथ डीप फ्रीजर में रखा है. ताकि टमाटर खराब न हो. यहीं से वह ग्राहकों को टमाटर बेच रहे हैं.

Aug 3, 2023 - 12:30
Aug 3, 2023 - 13:24
 0  32
टमाटर अब मिठाई दुकान के शोरूम में आने लगे नज़र, कैसे रसगुल्ले और लड्डू को टमाटर ने किया फेल ?
Follow:

देश में महंगाई का आलम यह है कि टमाटर अब गरीबों की थाली में नहीं बल्कि मिठाई की दुकान के शोरूम में नजर आ रहा है। देशभर में बारिश शुरू होते ही टमाटर की कीमतों में भारी उछाल आया है और इनके दाम लगातार बढ़ रहे हैं।

पहले गांव हो या शहर, अगर किसी गरीब परिवार को कोई साग-सब्जी नहीं मिलती थी तो टमाटर की चटनी में ही खाना खाकर गुजारा हो जाता था। लेकिन अब महंगाई इतनी बढ़ गई है कि टमाटर 200 रुपये किलो बिक रहा है। ऐसे में टमाटर की शान और उसके ठाठ बढ़ गए। उन्होंने अपनी खास जगह बनाते हुए ऐसी छलांग लगाई कि अब वह महंगी मिठाइयों के बीच सीधे मिठाई की दुकान के शोकेस में नजर आ रहे हैं।

कोरबा जिले के एचटीपीएस वेस्ट कॉलोनी परिसर में स्थित शॉपिंग सेंटर में संचालित दुकान पर जब ग्राहक पहुंचे तो देखा कि मिठाइयों के बीच शोकेस में टमाटर रखे हुए थे. यह नजारा देखकर एक पल के लिए भी किसी को यकीन नहीं हुआ कि वे शोकेस में टमाटर क्यों रखेंगे? सच्चाई जानकर मन की उलझन दूर करने के लिए संचालक से पूछा गया कि भैया ये टमाटर है या नए तरह की मिठाई तो उसने जवाब दिया कि

टमाटर के दाम अब मिठाई के बराबर हो गए हैं. हम 220 रुपये प्रति किलो में लड्डू बेचते हैं. टमाटर के दाम भी अब इन्हीं मिठाइयों के समकक्ष हो चुके हैं. इसलिए टमाटर की देखभाल भी मिठाइयों की तरह की जानी चाहिए. इसलिए मैंने टमाटर को फ्रिज में रखा है. ताकि इसकी क्वालिटी में गिरावट न आए. -शाजी भाई, होटल के संचालक

जिस तरह से देश और प्रदेश में अनाज और सब्जियों के दामों में बेतहाशा वृद्धि हो रही है, उससे आम जनता काफी परेशान है। बढ़ती महंगाई के कारण हर परिवार को अतिरिक्त बोझ का सामना करना पड़ रहा है। 

कुछ खाद्य पदार्थों और मसालों के रेट में आश्चर्यजनक वृद्धि हुई है। टमाटर और अन्य सब्जियों के दाम बढ़ने से आम जनता चिंतित है। महंगाई ने साधारण परिवार की कमर तोड़ दी है। खाने-पीने से लेकर अन्य वस्तुओं में रोजाना बढ़ोतरी हो रही है। ऐसे में एक साधारण परिवार के लिए पैदल घर जाना मुश्किल हो गया है।

What's Your Reaction?

like

dislike

love

funny

angry

sad

wow