Farrukhabad Loksabha Seat: क्या है इतिहास और किसका है कब्जा

Farrukhabad Loksabha Seat: फर्रुखाबाद संसदीय क्षेत्र पर इस समय भाजपा का कब्जा है।  यहाँ भाजपा के नेता मुकेश राजपूत लोकसभा में प्रतिनिधित्व करते हैं।

Apr 21, 2024 - 12:40
Apr 21, 2024 - 13:25
 0  162
Farrukhabad Loksabha Seat: क्या है इतिहास और किसका है कब्जा
Farrukhabad Loksabha Seat: क्या है इतिहास और किसका है कब्जा
Follow:

Farrukhabad Loksabha MP: उत्तरप्रदेश (Uttar Pradesh) के 80 संसदीय क्षेत्रों में से एक फर्रुखाबाद संसदीय क्षेत्र पर इस समय भाजपा का कब्जा है।  यहाँ भाजपा के नेता मुकेश राजपूत लोकसभा में प्रतिनिधित्व करते हैं। 2011 की जनगणना के आधार पर, इस क्षेत्र में आबादी 23,70,591 है। यह क्षेत्र 1957 से ही अस्तित्व में है। 

फर्रुखाबाद लोकसभा का इतिहास(Farrukhabad Loksabha History)

इस क्षेत्र के वोटरों में 86.00 प्रतिशत हिन्दू और 14.00 प्रतिशत मुस्लिम हैं। यहाँ पर ठाकुर, ब्राह्मण, लोध, यादव, ओबीसी, कुर्मी और जाटव जैसे समाज के विभिन्न वर्गों के वोटर्स हैं। अगर चुनाव आयोग के 2014 के आंकड़ों पर गौर करें तो इस सीट पर कुल 16 लाख 76 हजार 677 मतदाता हैं जिनमें से 9 लाख से कम पुरुष और 8 लाख से अधिक महिलाएं हैं।

2008 में परिसीमन के बाद इस संसदीय सीट का स्वरूप बदल गया। अब 5 विधानसभा क्षेत्र इस लोकसभा सीट के अंतर्गत आते हैं। वह हैं-अलीगंज, कैमगंज, अमृतसर, भोजपुर और फर्रुखाबाद।

इस सीट पर मुख्यतः मुकाबला पहले कांग्रेस बनाम समाजवादी दल, और अब भाजपा बनाम सपा-बसपा-रालोद महागठबंधन के बीच ही होता आया है। जब ये बिखर जाते हैं तो पहले कांग्रेस और अब बीजेपी की किस्मत निखर जाती है, और जब क्षेत्रीय दल एकजुट होते हैं तो राष्ट्रीय पार्टियां हांफने लगती हैं। 

Farrukhabad Loksabha: कौन कब जीता चुनाव?

वर्ष पार्टी विजेता
1957 भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस मूलचंद दूबे
1962 भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस मूलचंद दूबे
1962 (उपचुनाव) संयुक्त सोशलिस्ट पार्टी राम मनोहर लोहिया
1977 भारतीय लोकदल दयाराम शाक्य
1980 जनता पार्टी दयाराम शाह
1984 भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस खुर्शीद आलम खान
1989 जनता दल संतोष भारतीय
1991 भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस सलमान खुर्शीद
1996 भारतीय जनता पार्टी स्वामी सच्चिदानंद हरि साक्षी महाराज
1998 भारतीय जनता पार्टी स्वामी सच्चिदानंद हरि साक्षी महाराज
2004 समाजवादी पार्टी चंद्रभूषण सिंह
2009 भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस सलमान खुर्शीद
2014 भारतीय जनता पार्टी मुकेश राजपूत
2019 भारतीय जनता पार्टी मुकेश राजपूत

सन 1957 में जब इस प्रतिष्ठित सीट पर पहली बार चुनाव हुए तो भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस के नेता मूलचंद दूबे ने अपना कब्जा जमाया और लोकसभा पहुंचे। 1962 में वे ही दूसरी बार यहां से जीते। लेकिन उनके निधनोपरांत 1962 में ही यहां उपचुनाव हुए, जिसमें संयुक्त सोशलिस्ट पार्टी के राम मनोहर लोहिया यहां से जीते और संसद पहुंचे। फिर 1967 और 1971 में कांग्रेस नेताओं ने इस लोकसभा सीट का प्रतिनिधित्व किया।

इस सीट पर 1977 में चली गैर कांग्रेसी लहर में भारतीय लोकदल के दयाराम शाक्य विजयी हुए। 1980 में भी जनता पार्टी सेक्युलर की टिकट पर दयाराम शाह ने ही यहां से बाजी मारी। फिर 1984 में कांग्रेस नेता  खुर्शीद आलम खान लोकसभा पहुंचे।  लेकिन 1989 में जनतादल के संतोष भारतीय ने उनसे यह सीट छीन ली और लोकसभा पहुंचे। 

उसके बाद 1991 में कांग्रेस नेता सलमान खुर्शीद यहां से लोकसभा पहुंचे। इस बीच यहां चली राम मंदिर की लहर पर सवार होकर बीजेपी नेता स्वामी सच्चिदानंद हरि साक्षी महाराज ने 1996 और 1998 में लगातार दो बार यहां से जीते और लोकसभा पहुंचे। लेकिन 1999 में समाजवादी पार्टी नेता चंद्रभूषण सिंह ने उनसे यह सीट छीन ली। फिर, 2004 में उन्होंने ही दूसरी बार इस सीट का प्रतिनिधित्व किया। जबकि 2009 में कांग्रेस नेता सलमान खुर्शीद ने यहां से दूसरी बार जीत हासिल करके सबको चौंका दिया और लोकसभा पहुंचे।

यह संसदीय क्षेत्र इस मायने में भी महत्वपूर्ण है कि इसका नेतृत्व तेजतर्रार समाजवादी नेता राममनोहर लोहिया, कांग्रेस नेता सलमान खुर्शीद और बहुचर्चित हिन्दूवादी बीजेपी नेता डॉ सच्चिदानंद हरि  साक्षी महाराज ने किया है।

2014 के लोकसभा चुनावों में भाजपा उम्मीदवार मुकेश राजपूत ने समाजवादी पार्टी के उम्मीदवार रामेश्वर यादव को मात दी थी। साल 2019 के लोकसभा चुनाव में फर्रुखाबाद सीट पर भाजपा का कब्जा कायम रहा। बीजेपी के मुकेश राजपूत ने जीत हासिल की थी।  यहां पर सबसे अधिक यादव, शाक्य और लोधे राजपूत मतदाता हैं।

मुकेश राजपूत निजी जीवन (Mukesh Rajput Wiki)

पूरा नाम मुकेश राजपूत
जन्म तिथि 08 Aug 1968 (उम्र 55)
जन्म स्थान फर्रुखाबाद, उत्तर प्रदेश
पार्टी का नाम Bharatiya Janta Party
शिक्षा Graduate
व्यवसाय कृषिविद्
पिता का नाम स्वर्गीय श्री लज्जाराम
माता का नाम स्वर्गीय श्रीमती चंदावती
धर्म हिंदू

  • 2000-2012 के दौरान, मुकेश राजपूत जिला पंचायत, फर्रुखाबाद के दो बार (2000-2005 और 2006-2012) अध्यक्ष बन चुके थे।
  • 1 सितम्बर 2014 को, उन्हें खाद्य प्रसंस्करण उद्योग मंत्रालय के तहत परामर्श समिति के सदस्य चुने गए।
  • 1 सितम्बर 2014 को, उन्हें कृषि पर स्थायी समिति के सदस्य बनाया गया।
  • 15 सितम्बर 2014 को, उन्हें संसद सदस्यों के स्थानीय क्षेत्र विकास योजना (एमपीएलएडीएस) पर समिति के सदस्य के रूप में नियुक्त किया गया।
  • 2014 में, उन्हें फर्रुखाबाद निर्वाचन क्षेत्र में एसपी के रामेश्वर सिंह यादव को हराकर 16 वीं लोक सभा के लिए चुना गया था।

Read Also: Mainpuri Loksabha: क्या है इतिहास और किसका है कब्जा, किसकी हुई जीत

What's Your Reaction?

like

dislike

love

funny

angry

sad

wow