राहुल और अखिलेश, गाजियाबाद में की जॉइंट PC; चुनावी वादों संग मोदी सरकार पर की हमलों की बौछार

Apr 17, 2024 - 13:53
 0  12
राहुल और अखिलेश, गाजियाबाद में की जॉइंट PC; चुनावी वादों संग मोदी सरकार पर की हमलों की बौछार
Follow:

कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी और सपा सुप्रीमो अखिलेश यादव आज गाजियाबाद में एक बार फिर एक मंच पर नजर आए।

दोनों नेताओं ने यहां कौशांबी के होटल रेडिसन ब्लू में इंंडिया गठबंधन की प्रत्याशी डॉली शर्मा के सर्थन में एक संयुक्त प्रेसवार्ता को संबोधित किया। इसके साथ ही केंद्र और प्रदेश की भाजपा सरकार पर जमकर हमले बोले। राहुल दोनों ने यहां इलेक्टोरल बॉन्ड का मुद्दा प्रमुखता से उठाया।

दिल्ली से सटी गाजियाबाद लोकसभा सीट पर इस बार इंडिया गठबंधन के प्रमुख घटक दल कांग्रेस की प्रत्याशी डॉली शर्मा का मुकाबला भाजपा के अतुल गर्ग और बसपा के नंद किशोर पुंडीर से है। गाजियाबाद में दूसरे चरण में 26 अप्रैल को मतदान होगा।

LIVE UPDATES :- - राहुल गांधी ने यह पूछे जाने पर कि क्या वह अमेठी और रायबरेली से लोकसभा चुनाव लड़ेंगे? कांग्रेस नेता ने कहा कि ये भाजपा वालों का सवाल है, बहुत अच्छा...मुझे जो भी आदेश मिलेगा, मैं उसका पालन करूंगा। हमारी पार्टी में ये सभी (उम्मीदवारों के चयन) निर्णय CEC द्वारा लिए जाते हैं। - कांग्रेस नेता ने कि चुनावी बॉन्ड दुनिया की सबसे बड़ी जबरन वसूली योजना है।

भारत के सभी कारोबारी इस बात को समझते और जानते हैं और प्रधानमंत्री चाहे कितनी भी सफाई दे दें, इससे कोई फर्क नहीं पड़ेगा क्योंकि पूरा देश जानता है कि प्रधानमंत्री भ्रष्टाचार के चैंपियन हैं। राहुल गांधी ने कहा कि कुछ दिन पहले प्रधानमंत्री ने ANI को एक बहुत लंबा इंटरव्यू दिया। यह स्क्रिप्टेड था, लेकिन यह फ्लॉप शो था। प्रधानमंत्री ने इसमें चुनावी बॉन्ड को समझाने की कोशिश की।

प्रधानमंत्री कहते हैं कि चुनावी बॉन्ड की व्यवस्था पारदर्शिता के लिए, राजनीति को साफ करने के लिए लाया गया। अगर ये सच है तो सुप्रीम कोर्ट ने उस व्यवस्था को क्यों रद्द कर दिया और दूसरी बात अगर आप पारदर्शिता लाना चाहते थे तो आपने भाजपा को पैसा देने वालों के नाम क्यों छुपाए। आपने उन तारीखों को क्यों छुपाया जिस दिन उन्होंने आपको पैसे दिए थे?

राहुल गांधी ने कहा कि चुनाव में 2-3 बड़े मुद्दे हैं। बेरोजगारी सबसे बड़ा और महंगाई दूसरा सबसे बड़ा मुद्दा है, लेकिन बीजेपी ध्यान भटकाने में लगी हुई है न तो प्रधानमंत्री और न ही बीजेपी। मुद्दों पर बात करती है। - कांग्रेस सांसद राहुल गांधी ने कहा कि यह चुनाव विचारधारा का चुनाव है। एक तरफ आरएसएस और भाजपा संविधान और लोकतांत्रिक को खत्म करने की कोशिश कर रही है और दूसरी तरफ इंडिया गठबंधन और कांग्रेस पार्टी संविधान और लोकतंत्र को बचाने की कोशिश कर रही है।

सपा अध्यक्ष ने कहा कि भाजपा की हर बात झूठी निकली उनके वादे झूठे निकले, ना किसान की आय दोगुनी हुई ना नौजवानों को रोजगार मिला। विकास के जो सपने दिखाए थे वे भी अधूरे हैं। इनका जो नैतिकता का बुलबुला था वे भी टूट गया। - अखिलेश यादव ने कहा कि चुनावी बॉन्ड ने इनका बैंड बजा दिया। भाजपा सभी भ्रष्टाचारियों का गोदाम बन गई है।

ना केवल भ्रष्टाचारियों को ले रहे हैं, बल्कि भ्रष्टाचारियों ने जो कमाया है उसको भी अपने साथ रख रहे हैं...जो डबल इंजन का दावा करते रहे उनकी होर्डिंग देखिए, अब डबल नहीं अकेले दिखाई देते हैं। - समाजवादी पार्टी प्रमुख अखिलेश यादव ने कहा कि मैं रामनवमी के अवसर पर सभी को शुभकामनाएं देना चाहता हूं। मुझे खुशी है कि कांग्रेस नेता राहुल गांधी और समाजवादी पार्टी एक साथ प्रेस कॉन्फ्रेंस कर रहे हैं।

आज, हम गाजियाबाद में हैं और इस बार भारत गठबंधन गाजियाबाद से लेकर गाजीपुर तक बीजेपी का सफाया कर देगा, आज किसान परेशान हैं क्योंकि बीजेपी के सारे वादे झूठे निकले। माना जा रहा है कि दोनों नेताओं के एक साथ आने से इन चुनावों में पूरे उत्तर प्रदेश और खासकर पश्चिमी यूपी की 13 सीटों पर बड़ा प्रभाव पड़ेगा। इनमें गाजियाबाद, गौतमबुद्धनगर, बुलंदशहर, बागपत और मेरठ समेत अन्य सीटें शामिल हैं।

राहुल गांधी ने अपनी भारत जोड़ो यात्रा और भारत जोड़ो न्याय यात्रा के दौरान युवाओं, महिलाओं, किसानों और आम आदमी से जुड़े मुद्दे उठाए थे। बता दें कि, भाजपा ने गाजियाबाद में 2014 और 2019 में चुनाव जीत चुके केंद्रीय मंत्री जनरल (सेवानिवृत्त) वी.के. सिंह की जगह इस बार राज्य सरकार के पूर्व मंत्री अतुल गर्ग को उम्मीदवार बनाया है। रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह भी गाजियाबाद लोकसभा क्षेत्र का 2009 में प्रतिनिधित्व कर चुके हैं।

What's Your Reaction?

like

dislike

love

funny

angry

sad

wow