यूक्रेन में सेना भेजी तो... रूसी राष्ट्रपति पुतिन की पश्चिमी देशों को खुली चेतावनी

Mar 1, 2024 - 08:44
 0  10
यूक्रेन में सेना भेजी तो...  रूसी राष्ट्रपति पुतिन की पश्चिमी देशों को खुली चेतावनी
Follow:

रुस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन ने एक बार फिर पश्चिमी देशों को खुली चेतावनी दी है।

उन्होंने गुरुवार को पश्चिमी देशों से कहा कि अगर NATO की सेना यूक्रेन में लड़ने के लिए आती है तो इससे परमाणु युद्ध भड़क सकता है। उन्होंने चेतावनी दी कि मॉस्को के पास पश्चिम में टारगेट पर हमला करने के लिए सक्षम हथियार हैं।

दरअसल, यूक्रेन में युद्ध ने 1962 के क्यूबा मिसाइल संकट के बाद से पश्चिमी देशों के साथ मास्को के संबंधों में सबसे खराब संकट पैदा कर दिया है. पुतिन पहले भी नाटो और रूस के बीच सीधे टकराव के खतरों के बारे में बात कर चुके हैं, लेकिन गुरुवार को उन्होंने परमाणु हमले की चेतावनी तक दे डाली है. सांसदों और देश के एलीट वर्ग के अन्य सदस्यों को संबोधित करते हुए 71 वर्षीय पुतिन ने अपना आरोप दोहराया कि पश्चिमी देश रूस को कमजोर करने पर तुले हुए हैं।

उन्होंने सुझाव दिया कि पश्चिमी नेता यह नहीं समझते हैं कि रूस के आंतरिक मामलों में उनका हस्तक्षेप कितना खतरनाक हो सकता है. उन्होंने अपनी परमाणु चेतावनी की शुरुआत सोमवार को फ्रांस के राष्ट्रपति इमैनुएल मैक्रो द्वारा यूरोपीय नाटो सदस्यों द्वारा यूक्रेन में जमीनी सेना भेजने के विचार के विशेष संदर्भ में की।

 मैक्रो के इस सुझाव को अमेरिका, जर्मनी, ब्रिटेन और अन्य ने तुरंत खारिज कर दिया था। अपने संबोधन में पुतिन ने कहा, "पश्चिमी देशों को यह समझना चाहिए कि हमारे पास भी ऐसे हथियार हैं जो उनके क्षेत्र में टारगेट को मार सकते हैं. यह सब वास्तव में परमाणु हथियारों के उपयोग और सभ्यता के विनाश के साथ संघर्ष का खतरा है. क्या उन्हें यह समझ में नहीं आता?" 15-17 मार्च को होने वाले राष्ट्रपति चुनाव से पहले बोलते हुए पुतिन ने रूस के विशाल आधुनिकीकृत परमाणु शस्त्रागार की सराहना की, जो दुनिया में सबसे बड़ा है।

उन्होंने कहा, "रणनीतिक परमाणु बल पूरी तैयारी की स्थिति में हैं. नई पीढ़ी के हाइपरसोनिक परमाणु हथियारों के बारे में उन्होंने पहली बार 2018 में बात की थी या तो तैनात कर दिए गए थे या ऐसे चरण में थे जहां विकास और परीक्षण पूरा किया जा रहा था। गुस्साए पुतिन ने पश्चिमी राजनेताओं को नाजी जर्मनी के एडॉल्फ हिटलर और फ्रांस के नेपोलियन बोनापार्ट जैसे लोगों के भाग्य को याद करने का सुझाव दिया, जिन्होंने अतीत में रूस पर हमला किया था और हार का सामना करना पड़ा था।

 पुतिन ने कहा, "लेकिन अब परिणाम कहीं अधिक दुखद होंगे. वे सोचते हैं कि यह (युद्ध) एक कार्टून है. उन्होंने पश्चिमी राजनेताओं पर आरोप लगाया कि वे भूल गए हैं कि वास्तविक युद्ध का क्या मतलब है क्योंकि उन्होंने पिछले तीन दशकों में रूसियों के समान सुरक्षा चुनौतियों का सामना नहीं किया है।

What's Your Reaction?

like

dislike

love

funny

angry

sad

wow