क्षेत्रीय टीबी मुक्त पंचायत” के आयोजन, देश और प्रदेश से टीबी रोग का उन्मूलन सुनिश्चित होगा - प्रमुख सचिव

Sep 19, 2023 - 19:49
 0  29
क्षेत्रीय टीबी मुक्त पंचायत” के आयोजन, देश और प्रदेश से टीबी रोग का उन्मूलन सुनिश्चित होगा - प्रमुख सचिव
Follow:

क्षेत्रीय टीबी मुक्त पंचायत” के आयोजन, देश और प्रदेश से टीबी रोग का उन्मूलन सुनिश्चित होगा - प्रमुख सचिव, चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग पार्थ सारथी सेन शर्मा

 लखनऊ । उत्तर प्रदेश- 19 सितम्बर, 2023: टीबी रोग के समूल उन्मूलन के लिए सेंट्रल टीबी डिवीज़न, स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय, भारत सरकार, पंचायती राज मंत्रालय, भारत सरकार एवं चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग, उत्तर प्रदेश द्वारा दिनांक 19 से 20 सितम्बर 2023 तक दो दिवसीय “क्षेत्रीय टीबी मुक्त पंचायत” कार्यशाला का आयोजन लखनऊ में किया जा रहा है।

इसी क्रम में इस कार्यशाला के पहले दिन भारत सरकार और प्रदेश सरकार के अधिकारियों द्वारा टीबी उन्मूलन हेतु किये जा रहें प्रयासों और रणनीतियों पर गहन चर्चा की गयी। इस अवसर पर देश के अन्य राज्यों के राज्य क्षय अधिकारी, जिला पंचायती राज अधिकारी एवं जिला क्षय रोग कार्यक्रम अधिकारी, ग्राम प्रधान भी उपस्थित थे । कार्यक्रम में उपस्थित उत्तर प्रदेश के प्रमुख सचिव, चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग पार्थ सारथी सेन शर्मा ने कहा कि “टीबी उन्मूलन के लिए आज आयोजित “क्षेत्रीय टीबी मुक्त पंचायत” कार्यशाला के उद्देश्यों को प्राप्त करने के लिए यहाँ उपस्थित सभी राज्यों के अधिकारियों और सहयोगी संस्थाओं को आपसी समन्वय के साथ एक सुनियोजित रणनीति एवं कार्ययोजना बनाकर कार्य करना होगा” ।

 निदेशक, पंचायती राज, उत्तर प्रदेश राजकुमार ने कहा कि टीबी उन्मूलन कार्यक्रम में पंचायती राज विभाग प्रतिबद्धता के साथ कार्य कर रहा है और इस विभाग के सबसे महत्वपूर्ण घटक यानि ग्राम प्रधान, अपने समुदाय में संवाद के उपलब्ध समस्त माध्यमों का प्रयोग करके टीबी उन्मूलन के लिए सतत प्रयास कर रहें हैं । सेंट्रल टीबी डिवीज़न के डॉ. आलोक माथुर एवं डॉ निशांत कुमार ने कहा कि भारत सरकार, माननीय प्रधान मंत्री जी के भारत को स्वस्थ, स्वच्छ एवं रोग मुक्त करने के सपने को साकार करने हेतु देश से क्षय रोग को वर्ष 2025 तक समाप्त करने के लिए प्रतिबद्ध है और इसके लिए सभी राज्यों से समन्वय बनाकर कार्य किया जा रहा है ।

महानिदेशक, चिकित्सा एवं स्वास्थ्य सेवाएं, उत्तर प्रदेश, डॉ. दीपा त्यागी ने कहा कि क्षय रोग पूर्णतः साघ्य रोग है जिसका पूरा कोर्स करने से रोगी स्वस्थ हो जाता है। क्षय रोग परीक्षण एवं उपचार की सेवाएं प्रदेश के समस्त सरकारी अस्पतालों में निःशुल्क उपलब्ध हैं। संयुक्त निदेशक, राज्य क्षय नियंत्रण कार्यक्रम अधिकारी, उत्तर प्रदेश डॉ. शैलेन्द्र भटनागर ने कहा कि हम सभी मिलकर प्रयास कर रहें हैं कि प्रदेश की सारी क्षेत्रीय पंचायतें टीबी से मुक्त हों और इस दिशा में प्रदेश से लेकर गाँव की अंतिम छोर की आबादी तक टीबी उन्मूलन से जुड़ीं सभी गतिविधियों को सफलता पूर्वक सम्पादित करने के अथक प्रयास किये जा रहें हैं।

प्रदेश की राज्यपाल महोदया के मार्गदर्शन में क्षय रोगियो को सामाजिक एवं मानसिक मनोबल को बढ़ाने हेतु प्रदेश के समस्त जनपदों में क्षय रोगियों को विभिन्न सामाजिक एवं शैक्षणिक संस्थाओं एवं गणमान्य व्यक्तियों द्वारा क्षय रोगियों को गोद लेने का पुनीत कार्य किया जा रहा हैं। अभी कल ही राज भवन में आयुष्मान भव्: सेवा पखवाड़ा के अंतर्गत राज्यपाल महोदया द्वारा क्षय रोगियों को गोद लेने वाले सामाजिक व्यक्तियों को सम्मनित किया गया है। उपरोक्त कार्यक्रम में भारत सरकार, प्रदेश सरकार एवं जम्मू,कश्मीर, पंजाब, हरियाणा, उत्तराखंड, उत्तर प्रदेश और लद्दाख के स्वास्थ्य एवं चिकित्सा अधिकारी, पंचायती राज अधिकारी एवं जिला क्षय नियंत्रण कार्यक्रम अधिकारी के साथ ही सहयोगी संस्थाओं, विश्व स्वास्थ्य संगठन, कर्नाटक हेल्थ प्रमोशन ट्रस्ट (केएचपीटी), यूनाइटेड स्टेट्स एजेंसी फ़ॉर इंटरनेशनल एजेंसी (यूएसएआईडी), यूनियन, यूपीटीएसयू एवं ग्लोबल हेल्थ स्ट्रेटजीज के प्रतिनिधि भी उपस्थित थे। लखनऊ से अशोक कुमार कनौजिया

What's Your Reaction?

like

dislike

love

funny

angry

sad

wow