Bareilly News : हैड कांस्टेबल ने SSP के सामने CO के भ्र्ष्टाचार की खोली पोल, AC फ्रिज की डिमांड

Bareilly News : हैड कांस्टेबल ने SSP के सामने CO के भ्र्ष्टाचार की खोली पोल, AC फ्रिज की डिमांड

Jun 16, 2024 - 16:37
 0  366
Bareilly News : हैड कांस्टेबल ने SSP के सामने CO के भ्र्ष्टाचार की खोली पोल, AC फ्रिज की डिमांड
Follow:

UP के बरेली (Bareilly) जनपद में पुलिसकर्मी रिश्वत लेते पकड़े जा रहे हैं। सीओ द्वारा रंगदारी मांगने का मामला सामने आ रही है। वहीं, पुलिस लाइन भी इससे अछूती नहीं है।

मीरगंज सर्किल की सीओ डॉ. दीपशिखा अहिबरन सिंह द्वारा भट्ठा मालिक से 2 लाख की रंगदारी मांगने के मामले के बाद अब सीओ लाइन प्रियतोष त्रिपाठी के मामले ने सभी को हैरान कर दिया है। दरअसल, सरकारी पैसे से घर में एसी और फ्रिज लगवाने के बाद सीओ लाइन को जब स्टोर इंचार्ज ने 46,000 रुपए का होम थिएटर नहीं दिलाया तो वह उसपर नाराज हो गए।

 नाराजगी भी ऐसी कि उन्होंने उससे स्टोर प्रभारी का पद ही छीन लिया और किसी अन्य को नियुक्ति दे दी। वहीं, अब इस मामले में पीड़ित पुलिसकर्मी ने सीओ लाइन के भ्रष्टाचार की कहानी लिखकर एसएसपी को पत्र सौंपा है। वहीं, यह पत्र सोशल मीडिया पर वायरल होने के बाद बरेली पुलिस की जमकर फजीहत हो रही है। दरअसल, पुलिस लाइन के स्टोर में तैनात हेड कांस्टेबल धर्मेंद कुमार ने बताया कि वह 22 जून 2023 से स्टोर प्रभारी के रूप में तैनात थे। 26 मार्च 2024 को सीओ लाइन के कार्यालय से एक पत्र प्राप्त हुआ जिसमें बताया गया कि मरम्मत के बाद भी कार्यालय का एसी ठीक नहीं चल रहा है। ऐसे में प्रतिसार निरीक्षक (आरआइ) हरमीत सिंह को नया एसी लगवाने के निर्देश दिये गए।

 सीओ ने कहा- कार्यालय में नहीं आवास पर लगवाओ एसी प्रतिसार निरीक्षक के मौखिक आदेश पर छह अप्रैल को सप्लायर विक्ली मेहरा से नया एसी लगवाने के लिए बोला। एसी आने पर सीओ ने कहा कि उसे कार्यालय में नहीं आवास पर लगवाओ। सीओ के आदेश पर पुलिस क्लब स्थित उनके आवास पर एसपी लगा दी गई। साथ ही नए एसी के परिमिशन लेटर पर आरआई के साइन कराकर सीओ के समक्ष पेश किया गया। आरोप है कि सीओ ने हस्ताक्षर ना करते हुए एडजेस्ट कर लेने की बात कही। यह बात प्रतिसार निरीक्षक को बताई गई तो उन्होंने बाद में बात करने को कहा।

उधर, सीओ एडजेस्ट करने का दबाव बनाते रहे। मार्च में ही सीओ ने सरकारी रुपयों से आवास पर फ्रिज व डिश कनेक्शन भी करा लिया। सभी का बिल 52,800 बना। इसके बाद 17 मार्च को सीओ राजकीय वाहन से गनर निरंकार सिंह व तरुन के साथ बैठाकर बाजार ले गए। यहां अशोका इलेक्ट्रानिक पर सोनी कंपनी का 46 हजार रुपये कीमत का होम थियेटर पसंद किया और गाड़ी में रखवाने के आदेश दिये। एसएसपी द्वारा अनुमति ना दिये जाने की बात पर सीओ ने कहा कि जब तुम हमारा इतना काम हमारा नहीं कर सकते। एसी, फ्रिज एवं टाटा स्काई के पैसे को एडजेस्ट नहीं कर सकते।

तब तुम्हारा स्टोर में रहना बेकार है। तुम्हें स्टोर से हटाया जाना सही रहेगा। इसी के बाद स्टोर प्रभारी के पद से हटाकर हेड कांस्टेबल प्रदीप कुमार कसाना को जिम्मेदारी सौंप दी। वहीं, इस मामले में एसएसपी घुले सुशील चंद्रभान ने बताया कि प्रकरण में एसपी दक्षिणी को जांच सौंपी गई है। उनकी रिपोर्ट के आधार पर मामले में कार्रवाई की जाएगी।

What's Your Reaction?

like

dislike

love

funny

angry

sad

wow