Boy Assault In Delhi Metro: दिल्ली मेट्रो में अब लड़के भी सेफ नहीं, नाबालिंगों से छेड़छाड़

May 5, 2024 - 07:27
 0  256
Boy Assault In Delhi Metro: दिल्ली मेट्रो में अब लड़के भी सेफ नहीं, नाबालिंगों से छेड़छाड़
Follow:

Boy Assault In Delhi Metro: दिल्ली मेट्रो में अब लड़के भी सेफ नहीं हैं. ऐसा इसलिए क्योंकि एक नाबालिग लड़के ने सोशल मीडिया पर अपने साथ हुई छेड़खानी की जानकारी दी है।

नाबालिग पीड़ित ने इस बारे में सोशल मीडिया पर लिखकर अपनी आपबीती बताई है। 16 साल के नाबालिग ने सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म रेडिट और एक्स पर दावा किया कि दिल्ली मेट्रो में राजीव चौक मेट्रो स्टेशन पर उसके साथ छेड़खानी हुई है. अपने Reddit पोस्ट में पीड़ित ने बताया कि कैसे राजीव चौक मेट्रो स्टेशन पर ट्रेन में चढ़ने के तुरंत बाद उसे अपनी पीठ पर किसी का स्पर्श महसूस हुआ।

उसे ये नॉर्मल लगा, लेकिन बाद में ये कुछ ज्यादा हो गया. इसके बाद उसने अजीब महसूस किया. शुरू में, उन्होंने सोचा कि ये मेट्रो ट्रेन में चढ़ने के दौरान नॉर्मल हो सकता है, लेकिन स्थिति तब बिगड़ गई जब अंजान स्पर्श अजीब तरीके से तेज हो गया। नाबालिग पीड़ित ने एक्स पर एक के बाद एक कई पोस्ट शेयर किए. उसने लिखा कि अभी दिल्ली मेट्रो में राजीव चौक मेट्रो स्टेशन पर मेरे साथ अभद्रता हुई है. मैं 16 साल का लड़का हूं और मेट्रो में अकेला सफ़र कर रहा था।

मेरी ऑरिजिनल पोस्ट रेडिट पर थी. पोस्ट पढ़ने के बाद लोगों ने मुझे एक्स पर जानकारी शेयर करने और दिल्ली पुलिस को टैग करने के लिए कहा. इसके बाद मैंने एक्स पर प्रोफाइल बनाया और यहां सारी बातें शेयर कर रहा हूं। पीड़ित ने लिखा कि मैं गलत स्टेशन पर चला गया और यहां एक स्टेशन गार्ड मिला जिसने मेरी मदद की और स्थिति को समझा. आख़िरकार मैं अब सुरक्षित घर पर हूं. पीड़ित ने लिखा कि पहले बार उसने मुझे देखा तो अजीब इशारा किया. जब मैं एस्केलेटर से ऊपर जा रहा था तो मैंने उसे देखा था।

उसने मुझे देखा और वापस ऊपर की ओर जा रहे एस्केलेटर पर चढ़ गया, लेकिन मैं जितनी तेजी से भाग सकता था भागा. मैं खुद को बचाने के लिए भागा और जितनी जल्दी हो सके एक सुरक्षित स्थान पर चला गया. पीड़ित ने लिखा कि जैसे ही मैं मेट्रो स्टेशन (कश्मीरी गेट) पर पहुंचा, मैं बाहर निकला और उससे नजर बचाते हुए दूसरी ओर जाने की कोशिश की, लेकिन वो सामने आया, जिसके बाद मुझे येलो लाइन पर जाना पड़ा और फिर यहां उसने मुझे रास्ते में ही पकड़ लिया. मैं जितनी जल्दी हो सके एस्केलेटर पर चढ़ गया।

नाबालिग के मुताबिक, आरोपी ने तीसरी बार मेरा पीछा किया और उसने इस बार मुझे अजीब तरीके से छुआ, जिससे मुझे बुरा महसूस हुआ. इसके बाद मैंने उसके बाल पकड़ लिए और उसकी तस्वीर खींच ली. मैं डरा हुआ था और कांप रहा था लेकिन फिर भी मैंने उसकी तस्वीर खींच ली. इसके बाद मैंने वहां कुछ देर इंतजार किया और उसने बहस करने की कोशिश की लेकिन कुछ नहीं हुआ। उसने मुझे फिर से छूने की कोशिश की और सफल रहा. इस बार मैंने उसके हाथ पर बहुत जोर काटा और शायद खून बहने लगा इसलिए वो थोड़ी देर के लिए रुक गया. ये सब तब हुआ जब मैं उसका चेहरा नहीं देख सका।

फिर मैं उतरने के लिए बेसब्री से इंतज़ार करने लगा. थोड़ी देर बाद वो फिर से मेरे हाथ को छूने लगा, जिससे मैं एकदम चौंक गया, लेकिन मैं कुछ नहीं कर पाया और थोड़ा आगे बढ़ गया. फिर उसने मेरा पीछा किया और मैं बहुत डर गया. मैं वहीं सुन्न खड़ा होकर अपने स्टॉप आने का इंतज़ार करने लगा. पीड़ित ने बताया कि मैं रात 8:30-9:30 के बीच राजीव चौक स्टेशन पर अपनी ट्रेन में चढ़ा और वह समयपुर बादली मेट्रो स्टेशन की ओर जा रही थी।

कोच नंबर 7 और मैंने बैंगनी रंग की टी-शर्ट और शॉर्ट्स का सेट पहना हुआ था. हमलावर ने हरे रंग की शर्ट पहनी हुई थी। पीड़ित ने कहा कि मैंने एक वकील से बात की है और उसने मुझे उन सभी कानूनी प्रक्रियाओं के बारे में बताया है जिनसे गुजरना होगा. मैं इस ट्विटर अकाउंट के माध्यम से आप लोगों को अपडेट करता रहूंगा. फिलहाल मुझे 10 मिलीग्राम मेलाटोनिन लेने के बाद भी नींद नहीं आ रही है इसलिए मुझे थोड़ा आराम करने की जरूरत है! कल (शनिवार) सुबह आप सभी से मुलाकात होगी।

What's Your Reaction?

like

dislike

love

funny

angry

sad

wow