SDM ज्योति मौर्या केस में नपे मनीष दुबे, होमगार्ड कमांडेंट सस्पेंड

Nov 11, 2023 - 07:49
 0  461
SDM ज्योति मौर्या केस में नपे मनीष दुबे, होमगार्ड कमांडेंट सस्पेंड
Follow:

उत्तर प्रदेश में सुर्खियों में रखे एसडीएम ज्योति मौर्या मामले में आखिरकार पहली बड़ी कार्रवाई हो ही गई।

ज्योति मौर्या से अपने संबंधों को लेकर चर्चा में आए होमगार्ड कमांडेंट मनीष दुबे को सस्पेंड कर दिया गया है। मनीष दुबे के खिलाफ विभागीय जांच के भी आदेश दिए गए हैं. बता दें कि मनीष दुबे पर सस्पेंशन की तलवार काफी समय से लटक रही थी। 

 धनतेसर के दिन उनको सस्पेंड करने का शासन की तरफ से आदेश जारी किया गया. मनीष दुबे इस समय महोबा जिले के होमगार्ड कमांडेंट हैं। बता दें कि बरेली जिले में तैनात एसडीएम ज्योति मौर्या के पति आलोक मौर्या ने मनीष दुबे को लेकर कई गंभीर आरोप लगाए थे। आलोक के आरोपों पर डीआईजी होमगार्ड प्रयागराज ने जांच की थी।

 डीआईजी की जांच रिपोर्ट के बाद डीजी होमगार्ड ने मनीष दुबे को सस्पेंड करने की सिफारिश की थी. कारागार मंत्री धर्मवीर प्रजापति ने बीते सप्ताह मनीष दुबे को सस्पेंड कर विभागीय कार्रवाई करने के दिए थे। मंत्री के आदेश के बाद मनीष दुबे को सस्पेंड कर विभागीय जांच के आदेश दिए गए हैं। आलोक मौर्या ने मनीष दुबे पर लगाए थे गंभीर आरोप मनीष दुबे का नाम तब सुर्खियों में आया था, जब बरेली जिले की खेड़ा शुगर मिल में GM के पद पर तैनात PCS अधिकारी ज्योति मौर्या के पति आलोक मौर्या ने गंभीर आरोप लगाए थे।

 आलोक मौर्या ने कहा था कि ज्योति को बहला-फुसलाकर मनीष दुबे उसकी हत्या की साजिश रच रहा है। कभी भी उसकी हत्या हो सकती है. इसको लेकर आलोक मौर्या ने CM पोर्टल पर भी शिकायत की थी. मामला दो अधिकारियों से जुड़ा होने के चलते शासन ने भी इसको गंभीरता ले लिया। DIG होमगार्ड प्रयागराज ने की थी मनीष दुबे की जांच शासन ने आनन-फानन में मनीष दुबे को गाजियाबाद जिले से हटाकर महोबा जिले में भेज दिया।

 मनीष दुबे के महोबा आने के बाद डीजी होमगार्ड ने आलोक के आरोपों पर मनीष दुबे की जांच कराई. डीआईजी होमगार्ड प्रयागराज को मामले की जांच सौंपी गई. डीआईजी ने जांच करने के बाद डीजी को रिपोर्ट सौंपी थी. रिपोर्ट पढ़ने के बाद डीजी ने मनीष दुबे पर कार्रवाई की सिफारिश की थी. डीजी होमगार्ड की सिफारिश के बाद से ही लग रहा था कि मनीष दुबे पर कभी भी गाज गिर सकती है।

ज्योति-आलोक ने अपना मामला सुलझाया, लेकिन नप गए होमगार्ड कमांडेंट हालांकि उसी समय एसडीएम ज्योति मौर्या की भी जांच शासन करा रहा था. इसको लेकर एक जांच कमेटी गठित की गई थी. जांच कमेटी ने आलोक मौर्या को पूछताछ के लिए बुलाया तो आलोक ने ज्योति मौर्या पर लगाए अपने सभी आरोपों की शिकायत वापस ले ली, जिसके बाद कमेटी ने ज्योति मौर्या को पूछताछ के लिए नहीं बुलाया. अब शासन आलोक और ज्योति के केस की फाइल बंद करने की तैयारी कर रहा है।

 सूत्रों को मुताबिक, ज्योति और आलोक ने आपसी सहमित से अपने मामले को सुलझा लिया है। ज्योति मौर्या-मनीष दुबे के बीच अफयेर का लगा था आरोप एसडीएम ज्योति मौर्या के पति आलोक मौर्या ने ज्योति और कमांडेंट मनीष दुबे के बीच प्रेम-प्रसंग की बात कही थी. आलोक ने आरोप लगाया था कि ज्योति और मनीष के बीच में अफेयर चल रहा है। दोनों उसे रास्ते से हटाने के लिए उसकी हत्या भी करा सकते हैं. आलोक ने ज्योति की वॉट्सऐप चैट भी दिखाई थी और मीडिया के सामने फूट-फूट कर रोए थे. इससे आलोक को काफी सहानुभूति भी मिली थी।

What's Your Reaction?

like

dislike

love

funny

angry

sad

wow