जन्मदिन पर जय सिंह, IIS ने संत गाडगे पुस्तकालय खोलने के लिए छः डिसमिल जमीन की दान

Jul 5, 2024 - 21:04
 0  12
जन्मदिन पर जय सिंह, IIS ने संत गाडगे पुस्तकालय खोलने के लिए छः डिसमिल जमीन की दान
Follow:

जन्मदिन पर जय सिंह, आईआईएस ने संत गाडगे पुस्तकालय खोलने के लिए छः डिसमिल जमीन दान किये।

पूरे भारत में सभी प्रदेशों में केक काटकर मनाया गया जय सिंह का जन्मदिन

उत्तर प्रदेश में जय सिंह के फॉलोअर्स भी जगह-जगह केक काटकर मनाया जन्मदिन।

लखनऊ/ 5जुलाई/ एक ऐसा शख्स जो प्रशासनिक पद की जिम्मेदारी निभाते हुए सामाजिक सरोकारों से जुड़े रहने व सभी गरीबों, मजलूमों व वंचितों के सशक्तिकरण के लिए सदैव हर संभव मदद करने वाले जय सिंह, आईआईएस का जन्म देश व प्रदेश के साथ-साथ कई देशों में भी जगह-जगह केक काटकर मनाया गया। जय सिंह के कार्यालय में दिन भर जन्मदिन की बधाई देने वालों का तांता लगा रहा।

बात चीत में जय सिंह ने बताया की सुबह से ही हजारों फोन कॉल्स और वीडियो कॉल्स के माध्यम से बधाई देने वालों की लाइन लगी रही, सभी शुभ चिंतकों का प्यार, स्नेह, और सहयोग दिन भर मिलता रहा।कई जगहों पर शुभ चिंतकों ने ऑनलाइन केक काटकर बधाई दिए । जय सिंह ने अपने जन्मदिन के अवसर पर संत गाडगे और अंबेडकर पुस्तकालय खोलने के लिए वार्ड- 7, बरियारपुर नगर पंचायत, जिला देवरिया में छः डिसमिल जमीन का दान विमल एजुकेशनल एवं सोशल फाऊंडेशन, उत्तर प्रदेश को किया।

उक्त जमीन पर गरीब बच्चों के लिए नि:शुल्क पुस्तकालय का निर्माण कराया जाएगा, जिसमें समाज के गरीब, असहाय व वंचित छात्र-छात्राओं को नि:शुल्क पढ़ने लिखने व आगे बढ़ाने के लिए नि:शुल्क सभी शैक्षणिक सुविधा प्रदान की जाएगी । बताते चलें की जय सिंह प्रशासनिक सेवा के साथ-साथ समाज के सभी वर्ग के गरीबों वंचितों व असहाय की मदद करने में हमेशा आगे रहते हैं उनकी सोच व प्रयास है कि गरीब बच्चों के लिए पढ़ने के लिए हर साल एक पुस्तकालय खुलवाया जाए।

 जिसके क्रम में उन्होंने गोरखपुर व लखनऊ में संत गाडगे पुस्तकालय व वाचनालय खुलवा रखा है, जिसमें समाज के गरीब बच्चे जो फीस जमा नहीं कर पाते हैं वह पढ़ने आते हैं। उनका प्रयास है कि हर गांव में स्कूल व पुस्तकालय का निर्माण विमल एजुकेशनल एवं सोशल फाउंडेशन, उत्तर प्रदेश के सहयोग से स्थापित कराया जाएगा। अपने जन्मदिन पर जय सिंह ने 45 पेड़ लगाकर पर्यावरण को संरक्षित करने का संदेश भी दिया। इस अवसर पर सैकड़ो शुभचिंतक, समर्थक और गणमान्य व्यक्ति मौजूद रहे।

What's Your Reaction?

like

dislike

love

funny

angry

sad

wow