दिनदहाड़े सफाई कर्मी ने सड़क पर दिल्ली पुलिस के ASI को गोलियों से भूना

Apr 17, 2024 - 17:29
 0  12
दिनदहाड़े सफाई कर्मी ने सड़क पर दिल्ली पुलिस के ASI को गोलियों से भूना
Follow:

दिल्ली के ज्योति नगर के मीतनगर फ्लाईओवर पर मंगलवार को एक सिरफिरे ने दिल्ली पुलिस के एएसआई दिनेश शर्मा की गोली मारकर हत्या करने के बाद खुद भी आत्महत्या कर ली। इस दौरान चली गोली से एक स्कूटी सवार अमित भी घायल हो गया।

पुलिस ने इस संबंध में हत्या और आर्म्स एक्ट में केस दर्ज कर जांच शुरू कर दी है। डीसीपी जॉय ट्रिकी ने बताया कि दिनेश शर्मा परिवार के साथ मॉडल टाउन में रहते थे। वह दिल्ली पुलिस में एएसआई थे और वर्तमान में स्पेशल ब्रांच में तैनात थे। वहीं, हत्या का आरोपी 44 वर्षीय मुकेश परिवार के साथ नंदनगरी स्थित एक झुग्गी में रहता था।

सूत्रों ने बताया कि एएसआई दिनेश शर्मा पैसे ब्याज पर देने का भी काम करते थे। दिनेश ने पांच लाख रुपये आरोपी मुकेश को उधार दिए थे। मंगलवार को वह पैसे मांगने आए थे। इस बात को लेकर दोनों के बीच विवाद हो गया। दिनेश जाने लगे तो मुकेश पिस्तौल लेकर गया और मीतनगर फ्लाईओवर पर एएसआई पर ताबड़तोड़ फायरिंग शुरू कर दी।

इस फायरिंग की चपेट में दिनेश के अलावा स्कूटी सवार अमित आ गया। वारदात के आरोपी ने भागने का प्रयास किया, लेकिन ऑटो चालक 35 वर्षीय महमूद ने उसकी मदद नहीं की। इससे गुस्साए आरोपी ने ऑटो चालक पर भी फायरिंग की, लेकिन वह बचकर भाग गया। इसके बाद आरोपी ने खुद को गोली मारकर आत्महत्या कर ली। राहगीरों ने मामले की सूचना पुलिस को दी। मीतनगर फ्लाईओवर पर मंगलवार सुबह करीब 250 मीटर के दायरे में ताबड़तोड़ फायरिंग होती रही। इस दौरान गोलियों की आवाज सुनकर लोग पिस्तौल लहरा रहे शख्स को पकड़ने के लिए दौड़े, लेकिन आरोपी उनकी तरफ भी गोलियां चलाने लगा।

इसके बाद लोगों ने आगे बढ़ना मुनासिब नहीं समझा। सूत्रों के अनुसार, दिल्ली पुलिस के एएसआई की हत्या के बाद मुकेश फ्लाईओवर से भागने लगा। उसने एक ऑटो को जबरन रोक भी लिया, लेकिन चालक ने उसके साथ चलने से मना कर दिया। इससे गुस्साए आरोपी ने उस पर भी फायरिंग कर दी, लेकिन गनीमत रही कि वह बच गया। देखते ही देखते फ्लाईओवर पर भगदड़ सी मच गई और लंबा जाम लग गया। राहगीरों में भगदड़ मची - पुलिस अधिकारी ने बताया कि आरोपी मुकेश एएसआई दिनेश का पीछा कर रहा था।

फ्लाईओवर पर चढ़ने के बाद उनकी बाइक के सामने आकर उन्हें रोका और फिर पिस्तौल तानकर उन पर फायरिंग शुरू कर दी। प्रत्यक्षदर्शियों ने बताया कि फ्लाईओवर पर गोलीबारी होते ही अफरा-तफरी मच गई और बाइक सवार दिनेश नीचे गिर गए। हमलावर पिस्तौल लेकर लहराते हुए फ्लाईओवर से भागने लगा। इस दौरान स्कूटी सवार अमित उसके आगे आया तो आरोपी ने उसे भी गोली मार दी। गोली चलते ही मुकेश का पीछा कर रहे लोगों में भगदड़ मच गई। लोग वहां से भागने लगे।

लेनदेन को लेकर विवाद हुआ था : पुलिस सूत्रों ने बताया कि आरोपी मुकेश दिल्ली नगर निगम में अस्थायी सफाई कर्मचारी था। उसने एएसआई दिनेश से करीब पांच लाख रुपये ब्याज पर लिए थे। दिनेश मंगलवार सुबह मुकेश के पास ब्याज के पैसे लेने आए थे। पैसों के लेन-देन को लेकर दोनों में विवाद हो गया। विवाद इतना बढ़ गया कि दिनेश ने मुकेश को पुलिस में होने की बात कहकर धमकी दी और जल्द पैसे और ब्याज न चुकाने पर अंजाम भुगतने की बात कही। झगड़े के बाद दिनेश वहां से घर जाने के लिए निकल गए।

उधर, मुकेश ने पिस्तौल निकाली और दिनेश के पीछे चल दिया। कमर में फंसी गोली : एम्स में भर्ती घायल अमित की हालत गंभीर बनी हुई हैं। डॉक्टरों ने उसका ऑपरेशन किया। अमित की कमर में गोली फंस गई है, जिसके चलते गोली निकालने में डॉक्टरों को परेशानी हो रही है। सूत्रों का कहना है कि डॉक्टर गोली निकालने के लिए बुधवार को फिर ऑपरेशन कर सकते हैं। वह अभी आईसीयू में भर्ती है। एएसआई दिनेश शर्मा के परिवार में पत्नी सुमन, दो बेटे पंकज और अंशु तथा एक छोटी बेटी है।

उनकी सबसे बड़ी बेटी सपना भी दिल्ली पुलिस में कॉन्स्टेबल है। परिवार ने बताया कि वर्ष 1998 में दिनेश कुमार कॉन्स्टेबल के पद पर भर्ती हुए थे। कुछ ही दिन पहले मॉडल टाउन थाने से उनका तबादला स्पेशल ब्रांच में हुआ था। बेटे अंशु ने कहा कि उनके पिता की किसी से रंजिश नहीं थी। उसके पिता हंसमुख स्वभाव के व्यक्ति थे। बेटे ने बताया कि उन्हें जानकारी नहीं थी पिताजी ब्याज पर रुपये देने का भी काम करते थे। ऑटो चालक ने छलांग लगाकर जान बचाई सूचना मिलते ही पुलिस बल के साथ स्थानीय डीसीपी भी घटनास्थल पर पहुंच गए। उन्होंने ऑटो चालक महमूद से घटना की जानकारी ली। डीसीपी ने बताया कि जब ऑटो चालक ने विरोध किया तो आरोपी मुकेश ने उसके ऊपर भी गोली चला दी।

मगर उसने समय रहते ऑटो से कूदकर अपनी जान बचा ली। जाम के चलते ऑटो फंस गया और भागने का रास्ता नहीं मिलने पर आरोपी ने सिर में गोली मारकर आत्महत्या कर ली। पुलिस मृतक दिनेश और आरोपी मुकेश की सीडीआर की जांच कर रही है। मुकेश के परिजनों से भी पूछताछ की जा रही है। फिलहाल, पुलिस इस पूरे घटनाक्रम की जांच कर रही है। घटनास्थल के आसपास सीसीटीवी फुटेज खंगाले जा रहे हैं। दिल्ली पुलिस की क्राइम टीम और एफएसएल की टीम ने मौके से साक्ष्य जुटाए हैं।

What's Your Reaction?

like

dislike

love

funny

angry

sad

wow