मां ने किया दिल दहलाने वाला काम, तीन बेटों की डूबा कर की हत्या, चौथा भाग कर बचा

मां ने किया दिल दहलाने वाला काम, तीन बेटों की डूबा कर की हत्या, चौथा भाग कर बचा

Jun 28, 2024 - 08:03
Jun 28, 2024 - 08:43
 0  805
मां ने किया दिल दहलाने वाला काम, तीन बेटों की डूबा कर की हत्या, चौथा भाग कर बचा
मां ने किया दिल दहलाने वाला काम
Follow:

जिले के फफूंद थाना क्षेत्र के एक गांव निवासी महिला ने दिल दहला देने वाली घटना को अंजाम देते हुए अपने तीन बेटों को नदी में डुबाकर मार डाला।

वह अपने चार बेटों की हत्या करने के लिए उन्हें नदी किनारे लेकर आई थी। सबसे बड़ा आठ वर्षीय पुत्र बच गया । मां के घटना स्थल से जाने के बाद बेटा किसी तरह नदी के पुल पर आया और पास स्थित गांव के लोगों को घटना की जानकारी दी l ग्रामीणों ने पुलिस को सूचना दी। घटना स्थल पर पुलिस अधीक्षक भी पहुंची। मृतक तीन किशोरों के शव बरामद कर पोष्टमार्टम के लिए भेज दिए गए।

हत्या की आरोपित माँ को भी पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया l फफूंद थाना क्षेत्र के गांव बरौआ निवासी भूरे सविता की पुत्री प्रियंका 28 वर्ष की शादी लगभग दस वर्ष पूर्व बसरेहर थाना क्षेत्र के गांव लुईया निवासी अवनीश सविता के साथ हुई थी, दो वर्ष पहले अवनीश की घर मे करंट लगने से मृत्यु हो गई थी, तब से प्रियंका अपनी ससुराल में रह रही थी।

चचिया ससुर के लड़के जो रिश्ते में उसका देवर लगता है, उसका आना-जाना प्रियंका के पास था, गांव में चर्चा होने के बाद प्रियंका छः महीने पहले अपने मायके फफूँद थाना क्षेत्र के गांव बरौआ आकर रहने लगी तब चचिया देवर गांव में उसके साथ ही रहने लगा l एक महीने पहले औरैया में किराये का कमरा लेकर दोनों रहने लगे थे।

प्रियंका के चार बेटे सोनू 8वर्ष, आदित्य 7वर्ष, माधव 6 वर्ष तथा मंगल डेढ़ वर्ष भी साथ रह रहे थे। देवर बालों की कटिंग का काम कर खर्च चला रहा था लेकिन दोनों में रोज लड़ाई-झगड़ा होने लगा था।

गुरुवार को तड़के औरैया से प्रियंका अपने चार बेटों को लेकर गांव बरौआ के लिए चली। गांव देवरपुर में लोगों ने देखा कि तीन बच्चे पैदल चल रहे थे जबकि एक बच्चे को महिला गोद मे लेकर चल रही थी l वह बच्चों को लेकर सेंगर नदी का पुल पार करते हुए औरैया कोतवाली क्षेत्र के गांव ताल्हेपुर की ओर नदी के घाट पर पहुंची और बच्चों को डुबोकर मारना शुरू कर दिया जिसमें आदित्य 7वर्ष, माधव 6वर्ष, मंगल डेढ़ वर्ष की मौत हो गई जबकि सबसे बड़ा बेटा सोनू 8वर्ष किसी तरह बच गया।

 मां के घटना स्थल से जाने के बाद सोनू किसी तरह रोड पर आया। पुल पार करते हुए उसने पास स्थित गांव केशमपुर में जाकर घटना बताई l घटना स्थल पर हजारों की भीड़ जमा हो गई l पुलिस कप्तान सहित भारी पुलिसबल घटना स्थल पर पहुंच गया l पुलिस ने तीनों किशोरों के शवों को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया l हत्या की आरोपित मां को भी पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया।

चार बेटों को मौत के घाट उतारने आई माँ के बारे मे बड़े बेटे सोनू 8 वर्ष ने बताया कि माँ हम सबको नदी पर लाई और पानी में डुबोकर मारा। मुझे भी डुबोया। मैंने आखें बंद कर ली थी। मां के जाने के बाद मैं सड़क पर गया। एक अंकल मिल गए तब उन्हें बताया। सोनू अपने नाना के साथ था जो अब पुलिस कस्टडी में है l

-बच्चों के कपड़े और चप्पलें नदी के किनारे रखी थीं

मृतक बच्चों के कपड़े जैसे उनकी शर्ट, बनियान, नेकर और कुछ पैसे नदी के किनारे रखे थे l घटना स्थल पर रखे बच्चों के कपड़े मां द्वारा किये गए खौफनाक मंजर की कहानी बयां कर रहे थे। प्रियंका ने अपनी ताई गीता को फोन पर जानकारी देते हुए बताया था कि वह अपनी जिंदगी से परेशान होकर जहर खाकर अपनी जान देने जा रही है।

उन्होंने उसे समझाया भी लेकिन बाद में उन्हें जानकारी मिली कि प्रियंका ने अपने तीन बच्चों को मौत के घाट उतार दिया है।

What's Your Reaction?

like

dislike

love

funny

angry

sad

wow